Day: August 22, 2016

कन्हैया

राधा जी के संग खड़े बन्सी बजाते हो भजता मै तुम्हे तो मुझे देख मुस्कुराते हो भक्तों के मित्र हो तुम कन्हैया सदा ही बुलाने पर दौड़ कर आते हो। मित्रों के […]

चतुर्भुज

हे राम ! तुम सुन्दर हो हे श्याम ! तुम सुन्दर हो, चतुर्भुज रुप मे खड़े तुम सुन्दर नारायण हो। खोजता हूँ सोचता हूँ देखता हूँ  ढूंढता हूँ ना मन्दिर ना घर […]