Month: May 2017

रुखसत 

जानेवाले इस कदर  खुदगर्ज हैं होते,  अपनी बातों से  दिल में बीज हैं बोते।  कुछ खास तो  बयां नहीं करना मुझको पर जिन्हे छोड़ हम रुखसत हो रहे,  कुछ उदास और कुछ […]

माता पिता की वन्दना 

हे माँ, तुम्हारे चरण स्पर्श, परम पूज्य तुम महालक्ष्मी हो,  हे पिता, तुम्हारे चरण स्पर्श, परम पूज्य तुम नारायण हो।  आशिर्वाद लिये चल रहा मै, नितदिन अब पूजा है,  तुम्हारे प्यार एवं […]