जारी है

कितने इंतहानो से गुज़रे, तक़लीफ फिर भी ज़ारी है हर इंतहाँ से सफल गुज़रे, तक़लीफ फिर भी जारी है। ———– क्या गुनाह किया था तुमने, कि हश्र अभी जारी है रहनुमाई में एक हो उसकी, अंजाम आना जारी है। ———– सब्र रख कर जो चल रहे हो, खड़े रहना जारी है खुदाई में जरा देर […]

अथ श्री महाकाल स्तोत्रं

ॐ महाकाल महाकाय महाकाल जगत्पते । महाकाल महायोगिन महाकाल नमोस्तुते ।। महाकाल महादेव महाकाल महा प्रभो । महाकाल महारुद्र महाकाल नमोस्तुते ।। महाकाल महाज्ञान महाकाल तमोपहन । महाकाल महाकाल महाकाल नमोस्तुते ।। भवाय च नमस्तुभ्यं शर्वाय च नमो नमः । रुद्राय च नमस्तुभ्यं पशुना पतये नमः ।। उग्राय च नमस्तुभ्यं महादेवाय वै नमः । भीमाय […]

बहक कर निकले

बेपरवाह मौसम करता है रुसवा जमाने को कर निकले शमा रौशन जैसे पूरे मैखाने को, अलग अलग इंतज़ाम लिए हर मय जैसे तासीर अपनी बैठे हैं सब मौसमों में खोए हुए लिए तक़दीर अपनी, जैसे किसी परिंदे के बच्चों के पर और वो उड़ निकलें जाएँ इनकी रुहानियत को सैय्यद फिर मसल निकलें, बस में […]

जब चौथे आयाम से देखा

ज़िंदा थे पर तस्वीरों में पहुँचते देखे कुछ तस्वीरें भी ज़िंदा होती देखीं, कुछ को चलन निभाते देखा कुछ को चलन सिखाते देखा, उलझे हुए को खुश देखा सुखी को उलझते देखा, जो ज़िंदा हैं उन्हे प्रयाग में देखा प्रयाग में कुछ को ज़िंदा होते देखा, IIM पास को नागा बनते देखा नागा को सदा […]