Month: July 2019

अनजान

रिहा हो गई बाईज्जत वो मेरे कत्ल के इल्ज़ाम से शोख निगाहों को अदालत ने हथियार नहीं माना। – अनजान का शेर है – – – अब मेरे शेर आगे – – […]

*श्रीगुरुदेव स्तुति*

गुरु रूप धर आय हरि आपहुँ कबहुँ भेद न कीजै गुरु चरण रज सदा अवलोकों नित्य सीस धर लीजै वाणी गुरु की अमृत समाना सुन सुन मन सीतल होवै जन्मन की मैल […]

अभी बाकी है

ज़िस्म कट गया तो क्या हुआ, रूह अभी बाकी है तुम्हारी इंसानियत मर गयी तो क्या, हमारी अभी बाकी है छाया दूंगा , पानी दूंगा गर मैं मुक्कमल खड़ा रहूंगा शाख ओ […]

हो सकता है

ऊबड़ खाबड़ रस्ते भी, समतल हो सकते हैं, कोशिश की जाए तो मुद्दे हल हो सकते हैं. शर्त यही है कोई प्यासा हार न माने तो, हर प्यासे की मुट्ठी मेँ बादल […]

🌹”प्रभु श्रीराम साईं के चरणों में समर्पित लिखित रचना”🌹

🌹देह की नाव पर🌹 🌹श्वासों के चप्पू से🌹 🌹धड़कनों को साथ ले🌹 🌹श्री राम नाम जपते है🌹 🌹चलो उस पार चलते है🌹 🌹चलो मौसम संग बदलते है🌹 🌹दुःख पतझड़ संग झड़ते है🌹 […]