और उसमें डूबे तुम•••

श्याम की बजी बंसी

भक्तिमय हुए तुम

राधा सा जगा प्रेम

और उसमें डूबे तुम•••

*********

कलयुग का पंथ

दुनियादारी में तुम

पुण्य का संग

और उसमें डूबे तुम•••

*********

कुछ मीठी कुछ खट्टी

भावनाएं व्यक्त करते तुम

जिंदगी की भट्टी

और उसमें डूबे तुम•••

*********

पार उतरती नईया

भवसागर में तुम

नारायणी है मईया

और उसमें डूबे तुम•••

Advertisements

About Polastya

simple, humble, ordinary, down to the roots

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s