रखना सुहागन मोहे

🌹👣🌹

रखना सुहागन मेरे बाँके बिहारी ।
चरणों में तेरे ये है अरजी हमारी ।।

बिंदिया सिंदूर मेरा चमके हमेशा ।
हाथों का कंगना चूड़ी खनके हमेशा ।
रहमत हमेशा हम पर रखना तुम्हारी ।
रखना सुहागन मेरे बाँके बिहारी ।।

मेरा सुहाग हीं तो ताज़ है मेरा ।
इनसे हीं घर में कान्हा राज है मेरा।
इनके बिना ना कोई हस्ती हमारी ।
रखना सुहागन मेरे बाँके बिहारी ।।

आँच न इन पर कभी आने न देना ।
बदले में चाहे तुम जान मेरी लेना ।
जन्मों का बंधन जोड़े रखना बिहारी।
रखना सुहागन मेरे बाँके बिहारी ।।

मन की बात मैंने सारी बताई।
कांधे पर इनके मेरी हो विदाई ।
ख्वाहिश ये तुम पूरी करना बिहारी।
रखना सुहागन मेरे बाँके बिहारी
चरणों में तेरे ये है अरजी हमारी
🌹👣🌹जय जय श्री राधे 🌹👣🌹

– poet unknown –

Advertisements

About Polastya

simple, humble, ordinary, down to the roots

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s