माँ तुम्हारा प्यार ग़ज़ब है

माँ तुम्हारा प्यार ग़ज़ब है कभी प्यार कभी दुलार कभी ग़ुस्सा  कभी धिक्कार  ग़ज़ब है, कह देती हो कुछ ऐसा  गले में निवाला अटक गया, दूजे ही पल देती हो  दुलार और प्यार […]

कुछ जान-ए-जिगर साथ है

कुछ जान-ए-जिगर साथ है, कुछ नए जज़्बात साथ है। मेरे हमनवाज हमसफ़र साथ हैं, मुस्कुराहटों में निकल रहे लम्हे साथ हैं। इन लमहों में सिमटे कुछ लम्हे साथ हैं, बंद आँखों में निकले नमकीन […]

ये 2016 एक नयी उम्मीद लाया है

देखो २०१६ आया है साथ उम्मीदें नयी  लाया है, कुछ नया होगा इस साल लम्हे कुछ अच्छे कुछ बुरे  लाया है। नयी उम्मीदों को  साथ लिए  हम अग्रसर होंगें, और ऊपर उठेंगे  और […]

राजनीति का रंग और ढंग बदल गए

राजनीति का रंग और ढंग बदल गए, बदल चुके इंसान, दफ़न हो चुकी राजनीति  बचा ना कोई निशान। कुछ हैं इतिहास में जिन्होंने  लिखी नीतियाँ , किया करते थे राज  नाम ले कर जिनका  […]

वक़्त से रुसवा हो ऐसे चले थे कि बेपरवाह हो गए

वक़्त से रुसवा हो ऐसे चले थे कि बेपरवाह हो गए , उसने जाने अनजाने याद रखा और ख़ैरखवाह हो गए। बेरुख़ी समझी हमने परवरदेगार की सन्यासी हो गए, खरखवाहों में रह कर […]

चलूँगा और बनाऊँगा एक नया संसार

जंगल में बैठ ठंडी साँस  ले रहा हूँ, इस जंगल में  फिर जीवन का आनंद ले रहा हूँ, यहाँ फिर  एक इत्तफ़ाक़ हो रहा है, जानवरों को देख कुछ सीखें  ऐसा विचार हो रहा है। […]

इन ख़यालों से

इन ख़यालों से जीवन का सार हैं, इन ख्यालों से कर्म क्षेत्र निर्धारित हैं, इन ख़यालों से नीतियां निर्मित हैं, इन ख़यालों से घर की नींव आधारित है, इन ख़यालों से अपने […]