ये लम्हा याद आएगा

जब साँस छूटेगी ये लम्हा याद आएगा बिना जाने की कितना अकेला दूर चला जाएगा, रोता सिसकता अंधेरे बरपाए थे जब दूर तलक अपनी छाया से भी अभिग्न खुद को पाएगा। —————– जब साँस छूटेगी ये लम्हा याद आएग हाथ जोड़े खड़ा कंपकंपाया सा खुद को पाएगा, प्रभु प्रत्यक्ष होते हुए भी यूँही रोता आया […]

*(हम सब की कहानी )*

*ज़िन्दगी से लम्हे चुरा* *बटुए मे रखता रहा!* *फुरसत से खर्चूगां* *बस यही सोचता रहा।* *उधड़ती रही जेब* *करता रहा तुरपाई* *फिसलती रही खुशियाँ* *करता रहा भरपाई।* *इक दिन फुरसत पायी* *सोचा …….* *खुद को आज रिझाऊं* *बरसों से जो जोड़े* *वो लम्हे खर्च आऊं।* *खोला बटुआ..लम्हे न थे* *जाने कहाँ रीत गए!* *मैंने तो […]

लगे रहो

हंसते हो इस कदर कौन सा गम हो संजोए, कितने खुश थे पहले जो याद करके हो रोए। दारू जरा थोड़ी थोड़ी ही पिया करो, जिंदगी जरा मुस्कुरा कर जिया करो। समझ कर की यादें छलावा हैं होती, जिंदगी तुम्हे उलझा देख कितनी खुश है होती। दुख सुख मिले हैं जितने ये हिसाब के ही […]

लीलाएं

माया महामाया की स्थान सर्वोपरि है, निर्गुण रूप व्याप्त करे सगुण में दिगम्बरी है, महाकाली के नाम सहस्त्र संग चौंसठ योगिनी हैं, खड़ग खप्पर धारण करे राक्षसों को चरणो मे रखती है, मेरे हाथों से भोजन करे अधरों पर मुस्कान रखती है, ब्रह्मांड मे सबसे सुन्दर रुप धरे सिर्फ मुण्ड माला धारण कर विचरती है, […]

मधुराष्टकम् स्तोत्र

अधरं मधुरं वदनं मधुरं नयनं मधुरं हसितं मधुरं . हृदयं मधुरं गमनं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .. वचनं मधुरं चरितं मधुरं वसनं मधुरं वलितं मधुरं . चलितं मधुरं भ्रमितं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .. वेणुर्मधुरो रेणुर्मधुरः पाणिर्मधुरः पादौ मधुरौ . नृत्यं मधुरं सख्यं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .. गीतं मधुरं पीतं मधुरं भुक्तं मधुरं सुप्तं मधुरं . रूपं […]

चिड़िया

तन्हा बैठा था एक दिन मैं अपने मकान में, चिड़िया बना रही थी घोंसला रोशनदान में। पल भर में आती पल भर में जाती थी वो। छोटे छोटे तिनके चोंच में भर लाती थी वो। बना रही थी वो अपना घर एक न्यारा, कोई तिनका था, ना ईंट उसकी कोई गारा। कुछ दिन बाद…. मौसम […]

बस ऐसे ही

चंद लम्हों में सिमटी जिन्दगी यूँही किताब के पन्नो पर फैली स्याही ज्यूँही तुम पन्नो को फाड़ने की कोशिश न किया करो निकाल दी हमने अफसानो को समभलाते यूँही। ————- इत्तफाक से टकरा गये हम शैतान से पैगाम लिए है कहा खुदा के फरमान से हम बहल कर चल दिये और गड्ढे मे जा गिरे […]